शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं | How to Invest Money in Share Market in Hindi

शेयर मार्केट मै निवेश करके आप पैसे कमाने चाहते है, लेकिन शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं इसके बारे मै आपके पास जानकारी नहीं रहती, तो हम आपको नीचे डीटेल मै बहाएंगे। 

शेयर मार्केट मै आपको पैसा लगाना है, तो आपके आप एक डिमेट अकाउंट होने की जरूरत है। जिसके जरिये आप शेयर मार्केट मै पैसे को लगा सकते है। 

खाली डिमेट अकाउंट मिला और आप पैसा लगाने सुरू किए तो आपको इसमे लॉस भी हो सकता है, इसके लिए आपको इसके बारे मै डीटेल मै जानकारी होने की जरूरत है। 

तो हमने नीचे आपको शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं, शेयर मार्केट क्या है, ब्रोकर क्या है, किस प्रकार के ब्रोकर रहते है, शेयर मार्केट को कैसे सीखा जाता है इसके बारे मै डीटेल मै जानकारी दी है। 

शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं

शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं। (how to invest money in share market in hindi)

शेयर मै पैसे लगाने के लिए आपको सबसे पहिले डिमेट अकाउंट होना चाहिए और ये डिमेट अकाउंट आपको एक ब्रोकर के जरिये खुलवा सकते है।

शेयर मार्केट मै निवेश करने के लिए डिमेट अकाउंट के साथ ही आपके पास ट्रेडिंग अकाउंट ही चाहिए जोकि आपको शेयर की खरीदी और बिक्री करने मै मदत करता है।

डिमेट अकाउंट ये अकाउंट होता है, जहा पर अपने खरीद किए हुये शेयर, बॉन्ड, सेक्यूरिटीस को स्टोर किया जाता है।

ट्रेडिंग अकाउंट ये अकाउंट होता है, जहा से आप शेयर को खरीद और बेच सकते है।

आपको ये तो पता होगा की 5000 से भी ज्यादा कंपनी स्टॉक एक्स्चेंज (BSE, NSE) पर लिसटेड है, और वहा पर सीधे जाके शेयर को खरीद नहीं सकते, इसके लिए हमको डिमेट और ट्रेडिंग अकाउंट की जरूरत पड़ती है। डिमेट और ट्रेडिंग अकाउंट हम ब्रोकर के जरिये खुलवा सकते है।

यानी को हमको शेयर मार्केट मै पैसा लगाने के लिए एक ब्रोकर की जरूरत पड़ती है। 

तो हम नीचे डीटेल मै शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं इसके बारे मै जानकारी लेंगे।

शेयर मार्केट के बारे मै जानकारी हासिल करे।

शेयर मार्केट मै पैसे लगाना मतलब की आपके पास आये पैसे और लगाये ऐसा हम कर नहीं सकते। इसके लिए हमको शेयर मार्केट के बारे मै जानकारी होनी चाहिए।

शेयर मार्केट मै आपको इस तरह की जानकारी की आवश्यकता होनी चाहिए।

ये सब के बारे मै आपको जानकारी होनी चाहिए। इसके पहिले आर्टिकल मे हमने इसके बारे मै डीटेल मै बताया है। चाहे तो आप इसे पढ़ सकते है।

शेयर मार्केट के बारे मै सीखे।

शेयर मै निवेश करने से पहिले आपको शेयर मार्केट के बारे मै पता होना चाहिए, नहीं तो आपको लॉस हो सकता है।

शेयर मार्केट के आप निवेश करते है, तो आपको फंडामैंटल एनालिसिस, टेक्निकल एनालिसिस, चार्ट पैटर्न के बारे मै सीखना पड़ता है।  सीखने के लिए आप ऑनलाइन, ऑफलाइन कोचिंग, यूट्यूब, ब्लॉग, सेमिनार अटटेंट करके शेयर मार्केट के बारे मै जानकारी ले सकते है।

जब आप फंडामैंटल एनालिसिस सीखते है, तो आपको जिस कंपनी के शेयर खरीदने है, इसके बारे मै जानकारी मिलती है। कंपनी कैसी है, कंपनी का कारोबार किस सैक्टर मै है, कंपनी का तिमाही, वार्षिक कितना फायदा है, कंपनी के ऊपर कर्जा कितना है, इन सबके बारे मै आप फंडामैंटल एनालिसिस सीखके पता कर सकते है।

फंडामैंटल एनालिसिस करके आप कंपनी अच्छी है, इसके बारे मै पता कर सकते है, लेकिन जब कंपनी अच्छी है, तो हम कभी भी उस कंपनी के शेयर को खरीद और बेच नहीं सकते। इसके लिए हमको चार्ट पैटर्न, इंडिकेटर, वॉल्यूम, मुविंग एव्रेज, मार्केट ट्रेंड पता करके उस कंपनी के शेयर को खरीद और बेच सकते है। इसके लिए हमे टेक्निकल एनालिसिस की जरूरत पड़ती है।

इनवेस्टमेंट के गोल सेट करे।

शेयर मार्केट मै आपको निवेश करना है, तो आपको अपने गोल को सेट करके निवेश करना होगा। आप शेयर मार्केट मै पैसा लगाते है, तो आप ये पैसा लॉन्ग टर्म के लिए लगाते है, या शॉर्ट टर्म के लिए लगाना है ये पता होना चाहिए।

जब आप स्टॉक मार्केट मै पैसा लगाते है, तो आप डिविडेंट के जरिये पैसा कमाना चाहते है, या शेयर की कमाते बढ़ने से ये भी आपको मालूम होना चाहिए।

शेयर मार्केट मै आप इन्वेस्ट करते है, तो आप रिटायरमेंट, बच्चो की पढ़ाई, उनकी शादी, नया घर या जमीन खरीदना है, इस तरह के पैसे को कमाने के लिए हम शेयर मार्केट मै पैसा लगाते है। और आपको भी इसका ध्यान रखके, ये जरूरते हमको पूरी करनी है, उसी के हिसाबसे हम शेयर मार्केट मै पैसा को लगा सकते है।

ब्रोकर को चुने।

शेयर बाजार मै हम डाइरैक्ट एक्स्चेंज के पास जाके पैसे लगा नहीं सकते, इसके लिए हमे एक ब्रोकर की जरूरत पड़ती है। आज मार्केट मै बहुत सारे ब्रोकर है, जो की आपको डिमेट और ट्रेडिंग अकाउंट देते है, ब्रोकर की बात की जाए तो Zerodha, Groww, Upstock, Sherekhan, Angle One जैसे ब्रोकर मार्केट मै उपलब्ध है। 

शेयर मार्केट मै दो तरीकेके के ब्रोकर होते है, पहिला फुल टाइम सर्विस ब्रोकर, दूसरा डिस्काउंट ब्रोकर 

  • फुल टाइम सर्विस ब्रोकर: फुल टाइम सर्विस ब्रोकर आपको 24 अवर्स कस्टमर सपोर्ट प्रोवाइड करता है, इसमे वो आपको पोर्टफोलियो अपडेट, लीगल सलाह, टैक्स एडवाइस, मार्जिन की सुविधा, शेयरों से जुड़ी हुई रिसर्च या जानकारी भी उपलब्ध कराते हैं। जो लोग ज्यादा ट्रेडिंग करते है, इनके लिए फुल टाइम सर्विस ब्रोकर एक अच्छा ऑप्शन होता है। मोतीलाल ओसवाल, Sharekhan, HDFC, SBI जैसे ब्रोकर फुल टाइम ब्रोकर के तहत काम करते है। ये ब्रोकर के सर्विस चार्जेस ज्यादा रहते है। 
  • डिस्काउंट ब्रोकर: आपके शेयर को खरीदने और बेचने का काम खाली डिस्काउंट ब्रोकर करता है, फूल टाइम सर्विस ब्रोकर से डिस्काउंट ब्रोकर के सर्विस फी कम रहती है। Zerodha, Upstock जैसे ब्रोकर डिस्काउंट ब्रोकर के तहत काम करते है। 

आप पहिली बार या कम पैसे को निवेश करके है, तो आपको डिस्काउंट ब्रोकर के पास जा सकते है। डिस्काउंट ब्रोकर आपको कम या 0 फी लेके आपको डिमेट और ट्रेडिंग अकाउंट देता है। 

डिमेट अकाउंट को ओपन करे।

अपने एक अच्छे ब्रोकर को सिलैक्ट करने के बाद, आपको डिमेट और ट्रेडिंग अकाउंट शेयर मार्केट मै निवेश करने के लिए ओपन करना पड़ता है। 

ऑनलाइन डिमेट अकाउंट ओपन करने के लिए आपको कुछ डॉकयुमेंट की जरूरत पड़ती है। 

  • आधार कार्ड मोबाइल नंबर से लिंक होना चाहिए 
  • पैन कार्ड 
  • बैंक अकाउंट
  • ईमेल आईडी

ये आपके पास डॉकयुमेंट होगे तो आप ऑनलाइन 5 मिनट मै घर बैठे डिमेट अकाउंट ओपन कर सकते है। ऑनलाइन घर बैठे अकाउंट ओपन करने के लिए आपका मोबाइल नंबर आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए, नहीं तो आप ऑनलाइन अकाउंट ओपन नहीं कर सकते। 

आपका मोबाइल नंबर आधार कार्ड को लिंक नहीं है, तो आप ब्रोकर के जरिये ऑफिस मै जाके अपने डॉकयुमेंट जमा करके डिमेट अकाउंट शुरू कर सकते है। 

मोबाइल नंबर आधार कार्ड को लिंक नहीं है तो आपको इन डॉकयुमेंट की जरूरत पड़ती है: 

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • बैंक अकाउंट स्टेटमेंट 6 महीने के 
  • फोटो 
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी

बैंक अकाउंट लिंक करे।

आप ब्रोकर के जरिये ऑनलाइन अकाउंट ओपन करते है, तो अकाउंट एक्टिव होने के लिए आपको अपना बैंक अकाउंट डिमेट अकाउंट को लिंक करना पड़ता है, और उसके बाद ही आपका डिमेट अकाउंट एक्टिव होता है। 

जब ऑफलाइन अकाउंट ओपन करते है, तो आपका बैंक अकाउंट ब्रोकर के जरिये लिंक करके आपका डिमेट अकाउंट एक्टिव किया जाता है। 

अपना पैसा डिमेट अकाउंट मै एड़ करे।

बैंक अकाउंट को लिंक करके आप डिमेट अकाउंट एक्टिव करते है, उसके बाद आपको शेयर को खरीदने के लिए ब्रोकर ने ओपन किया हुवा डिमेट अकाउंट मै पैसे एड़ करने पड़ते है। 

आपने जिस बैंक अकाउंट को लिंक किया है, उसी बैंक अकाउंट से आपको पैसे एड़ करने पड़ते है, नहीं तो आपके पैसे दूसरे अकाउंट से एड़ नहीं होते। 

बीना पैसे को एड़ की आप डाइरैक्ट बैंक अकाउंट से पैसे लगाके शेयर को खरीद नहीं सकते। 

अपने एड़ किए हुये पैसे से शेयर को खरीद सकते है, और जब आप आओने शेयर को बेचते है, तो वही पैसे आपके वैलट मै ही जमा होते है। आपको जब पैसे को निकालना पड़ता है, तो उसी टाइम आप इसे निकाल सकते है। 

शेयर मार्केट मै पैसे लगाये।

शेयर मार्केट मै एक बार आपका डिमेट और ट्रेडिंग अकाउंट सुरू होने के बाद आप शेयर मार्केट मै पैसे को लगाना सुरू कर सकते है। आपको 5000 से अधिक कंपनी के शेयर मिलेंगे, आप यूनामे से अच्छी कंपनी को निकालके इसमे ट्रेडिंग को सुरू कर सकते है। 

इस तरह से हमने आपको शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं जाते है, इसके बारे मै विस्तार से जानकारी पूरी डीटेल मे दी है।   

शेयर को चुनने के लिए रिसर्च करे।

हमने शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं इसके बारे मै विस्तार से आपको ऊपर बताया है, की तरह डिमेट अकाउंट को सुरू करके शेयर मार्केट मै पैसे को लगा सकते है। 

लेकिन हमारे पास जैसे ही डिमेट अकाउंट ओपन हो गया तो। आप शेयर मार्केट मै पैसा लगाना सुरू किया कोई रिसर्च न करके तो आपको लॉस हो सकता है, इसके लिए आपको मार्केट मै शेयर बारे मै रिसर्च करने की जरूरत है। 

अपना पोर्टफोलियो डायवर्सिफाई रखे।

जब आप शेयर मार्केट मै निवेश करते है, तो आपको अपना पोर्टफोलियो को डायवर्सिफाई रखना चाहिए, इस वजह से आपको इसमे कम लॉस देखने को मिल सकता है। 

पोर्टफोलियो को डायवर्सिफाई रखना मतलब जब आप स्टॉक मार्केट मै 1 लाख रुपए निवेश करते है, तो आपको 1 लाख रुपये एक ही सैक्टर के एक ही शेयर मै निवेश करना नहीं होता है। 

1 लाख रुपए आप 20-20 हजार के पाच सैक्टर मे निवेश कर सकते है, और इसके साथ हर सैक्टर के 2 कंपनी मे निवेश करते है, तो आप इसे पोर्टफोलियो को डायवर्सिफाई करना बोल सकते है। 

पोर्टफोलियो को डायवर्सिफाई रखने से आप को लॉस को कम होता है, कोई स्टॉक एकदम से कई कारण वर्ष गिर सकता है, लेकिन आप 10 स्टॉक अपने पोर्टफोलियो मे रखते है, तो ये 10 स्टॉक गिरने का चान्स ना के बराबर रहता है। 

बिना स्टॉप लॉस के शेयर बाजार में निवेश न करें।

शेयर मार्केट मै आप लॉन्ग टर्म हो या शॉर्ट निवेश करते हो, इसमे आपको बीना स्टॉप लॉस के निवेश करने से बचना चाहिए, टेक्निकल एनालिसिस जब आप सीखते है, तो आपको स्टॉप लॉस को कैसे लगाते है, इसके बारे मै पता लगता है। 

जब कोई स्टॉक नीचे आने लगता है, तो ये स्टॉक कितना नीचे आ सकता है इसके बारे मै हम पता नहीं लगा सकते। इसलिए हमको स्टॉप लॉस लगाना चाहिए।

निष्कर्ष

शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं इसका दो लाइन मे कहे तो, शेयर मार्केट मै पैसे लगाने के लिए हमको एक डिमेट और ट्रेडिंग अकाउंट की जरूरत पड़ती है। ये डिमेट अकाउंट हम ब्रोकर के पास ओपन कर सकते है। डिमेट अकाउंट ओपन होने के बाद हम अपने पैसे एड़ करके शेयर मार्केट मै पैसे लगाने सुरू कर सकते है। 

About The Author

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top