टिश्यू पेपर बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें? (How to start Tissue Paper Making Business Hindi )

आप टिश्यू पेपर का बिज़नस सुरू करने के बारे मै सोच रहे है, या इसे सुरू करना चाहते है, तो आज हम आपको टिश्यू पेपर बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें? (How to start Tissue Paper Making Business Hindi) इसके बारे मै डीटेल मै बताने वाले है।

टिश्यू ये एक ऐसा प्रॉडक्ट है, इसका इस्थमाल पहिले से अभी बढ़ता हुवा दिखाता है, और आने वाले दिने मै भी इसकी मांग और भी बढ़ने वाली है।

360 जानकारी इस साइट के ऊपर हम आपको टिश्यू पेपर बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें? (How to start Tissue Paper Making Business Hindi), टिश्यू पेपर क्या है, इसके लिए मशीन, रो मटिरियल, लागत, फायदा, इन सबके बारे मै हम आपको इस आर्टिकल मै बताने वाले है।

टिश्यू पेपर बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें?

Table of Contents

टिश्यू पेपर क्या है?

टिश्यू पेपर ये एक ऐसा प्रॉडक्ट है, इसे ज्यादा तर लोग Professional के रूप मै इस्थमाल करते है। इसका इस्थमाल हात साफ करने मै ज़्यादातर किया जाता है। 

ये एक बहुत ही हलका प्रॉडक्ट रहता है, इससे पानी की बचत होती है। जब आप कही ट्रैवल कर रहे है, तो वहा पर हात साफ करने, मुह पूछने के लिए टिश्यू पेपर का इस्थमाल किया जाता है। 

ऑफिस, होटल, टॉइलेट इन जगह पर टिश्यू पेपर का इस्थमाल ज्यादा तर होता है। 

टिश्यू पेपर कितने प्रकार के होते हैं?

आज के टाइम मै मार्केट मै काही तरह के टिश्यू पेपर उपलब्ध है, और इसका इस्थमाल अलग – अलग काम के लिए किया जाता है।

टिश्यू पेपर के कितने प्रकार है, और इसका इस्थमाल कब किया ज्याता है, इसे हम देखते है। 

  1. टॉइलेट टिशू पेपर: इसका इस्थमाल टॉइलेट मै किया जाता है। 
  2. पेपर टॉवल: इसका इस्थमाल घर मै हात को साफ करने मै करते है। 
  3. फ़ेश्यल टिशू: मुह को साफ करने के लिए इसका इस्थमाल होता है। 
  4. टेबल नैप्किन: होटल, ऑफिस मै इसका इस्थमाल किया जाता है। 
  5. व्रप्पिंग टिशू: बच्चो के लिए इसका इस्थमाल किया जाता है। 

भारत में टिशू पेपर का बाजार कितना बड़ा है?

पहिले के टाइम मै आपको टिश्यू पेपर ज्यादा दिखाता नहीं था, लेकिन आज के टाइम मै टिश्यू पेपर का इस्थमाल ज्यादा होता है, और आने वाले टाइम मै और भी ज्यादा इसका इस्थमाल होने वाला है। 

हमने ऊपर देखा की किस प्रकार के टिश्यू पेपर आज मार्केट मै इस्थमाल होते है। आज ऑफिस मै, छोटे से छोटे होटल मै टिश्यू पेपर का इस्थमाल किया ज्याता है। 

अपने घर मै, टॉइलेट मै इसका इस्थमाल होता है। अभी इसका इस्थमाल शहर मै रहने वाले लोग ही ज़्यादातर करते है, लेकिन आने वाले दिन मै इसका हर कोई और गाव मै भी रहने वाला आदमी इस्थमाल करते हुये दिखेगा। 

टिश्यू पेपर बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें?

टिश्यू पेपर क्या है, और इसका मार्केट कितना बढ़ा है, ये हमने आपको ऊपर समजाया, अभी हम टिश्यू पेपर बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें? इसके बारे मै डीटेल और स्टेप बाइ स्टेप जानकारी लेने वाले है। 

1. टिश्यू पेपर का बिज़नस सुरू करने के लिए मार्केट रिसर्च 

जैसे की आप लोग जानते है और इसके पहिले भी हमने बिज़नस के बारे मै लिखा है, कोनसा भी बिज़नस को सुरू करने के लिए हमको उस बिज़नस के बारे मै आर्टिकल पढ़के, उसके यूट्यूब मै विडियो देखके उसे सुरू नहीं करना चाहिए।

आप टिश्यू पेपर का बिज़नस सुरू करना चाहते है, तो आपको इसके बारे मै अच्छे तरह से रिसर्च करने की जरूरत है, इसके लिए आप जहा पर टिश्यू पेपर को बनाते है, वहा पर जाके इसके बारे मै जितनी हो उतनी जानकारी हासिल करे। आप वहा जाके:

  • टिश्यू पेपर की मार्केट मै मांग
  • टिश्यू पेपर बनाने के लिए रजिस्ट्रेशन और लाइसेंस
  • जगह
  • टिश्यू पेपर को कैसे बनाया जाता है।
  • इसके लिए रो मटिरियल और मशीन कहा से मंगा ले
  • इसकी पैकिंग, और मार्केट मै सप्लाइ
  • टिश्यू बनाने के लिए लागत और फायदा

इन सबके बारे मै आपको 2-4 प्लांट मै जाके अच्छी तरह से जानकारी लेनी है, जब ये जानकरी लेके आप इसकी सुरवात करते है, तो आपको कभी भी इसमे लॉस नहीं होगा।

2. टिश्यू पेपर बनाने के लिए जगह 

टिश्यू पेपर के बिज़नस को सुरू करने की बात करे तो, आप इसे गाव मै सुरू मत कीजिये, गाव मै टिश्यू पेपर का इस्थमाल बहुत ही कम होता है।

आप इसे गाव मै जगह है, तो सुरू कर सकते है, और बाद मै बनाया हुवा माल को हम शहर मै बेच देंगे, तो आपको इसमे जगह के तो पैसे बच जाएंगे, लेकिन आपको रो मटिरियल का खर्चा और बनाया हुवा माल को शहर मै भेजने का खर्च भी बढ़ेगा। इसके साथ टिश्यू पेपर की कीमत बढ़ेगी और आपका कोम्पीटीटर उससे सस्ता माल बेचगा तो आपका माल कोई खरीद नहीं लेगा।

टिश्यू पेपर का बिज़नस को सुरू करने के लिए आपको 700-1000 sqft की जगह की जरूरत पड़ती है। आपके पास शहर के आसपास जमीन नहीं है, तो आप इसे 15-20 हजार रूपये प्रती महिना देके किराया पर ले सकते है। 

जगह ऐसी हो जहा पर आपको लाइट, पानी, खुली हवा, पार्किंग के लिए जगह होनी चाहिए। 

3. टिश्यू बनाने का बिज़नस के लिए रजिस्ट्रेशन और लाइसेंस

टिश्यू पेपर का बिज़नस ये एक पर्यावरण फ्री बिज़नस है, इसीलिए आपको ज्यादा रजिस्ट्रेशन की जरूरत नहीं पड़ती, आप खाली GST नंबर लेके इसे सुरू कर सकते है। 

फिर भी आप इसका रजिस्ट्रेशन करना चाहते है, तो आपको; 

  • GST नंबर
  • MSME रजिस्ट्रेशन: इससे लोन मिलने मै आसानी होती है। 
  • व्यापार का पंजीकरण
  • ट्रेड लाइसेंस
  • पोल्यूशन कण्ट्रोल बोर्ड की तरफ से एनओसी सर्टिफिकेट.
  • फैक्ट्री स्थापना के लिए लाइसेंस.
  • उद्योग आधार एमएसएमई पंजीकरण.

4. टिश्यू पेपर का बिज़नस सुरू करने के लिए रो मटिरियल 

टिश्यू पेपर का बिज़नस को सुरू करने के लिए आपको ज्यादा रो मटिरियल की जरूरत नहीं पड़ती, आपको 2-4 रो मटिरियल होंगे तो, आप इसे सुरू कर सकते है। 

पेपर रोल: पेपर रोल की मदत से आप टिश्यू पेपर को बनाते है, इसकी कीमत मार्केट मै 40-60 रूपये प्रती किलो के हिसाबसे है। पेपर रोल अलग अलग क्वालिटी के होते है, आपको 15-18 GSM का पेपर आप टिशू पेपर को बनाने के लिए इस्थमाल कर सकते है। 

टिश्यू पेपर बनाने का रोल आपको ऑनलाइन इंडिया मार्ट जैसे वैबसाइट के ऊपर आसनीसे मिलेगा, आप अपने नजदीकी सप्लायर से बात करके इसे मंगा सकते है। 

पेपर रोल के साथ आपको कुछ पैकिंग मटिरियल की भी जरूरत पड़ती है, इसे आप रिक्वाइरमेंट के नुसार मंगा सकते है। 

5. टिश्यू पेपर बनाने की मशीन 

टिश्यू पेपर बनाने की मशीन फुल्ली ऑटोमैटिक रहती है, और इसे सिंगल पेज लाइट कनैक्शन के ऊपर भी चलाया जा सकता है। इसकी मार्केट मै 4 लाख से सुरवात होती है। 

इसकी एक दिन मै 10 टन तक का पेपर को टिश्यू पेपर बनाके दे सकती है। 

इसकी लाइट की खपत की बात करे तो, 2 यूनिट प्रती घंटे की हिसाबसे होती है। ये कम ज्यादा मशीन से हिसाबसे हो सकती है। 

टिश्यू पेपर बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें?

इन ऑटोमैटिक मशीन की मदत से आप रिक्वाइरमेंट के नुसार ब्रांड का नाम प्रिंट कर सकते है, टिश्यू पेपर की साइज़ को भी कम ज्यादा किया जा सकता है। 

6. टिश्यू पेपर बनाने की प्रक्रिया 

टिश्यू पेपर को बनाने की प्रक्रिया बहुत ही सिम्पल है, आपको फुल्ली ऑटोमैटिक मशीन को चलाने के लिए ज्यादा कामगार की जरूरत नहीं पड़ती।

  • टिश्यू पेपर को बनाने के लिए सुरवात मै आपको पेपर रोल ऑटोमैटिक मशीन मै सेट करना है। 
  • उसके बाद आपको किस कंपनी या होटल के लिए टिश्यू पेपर को बनाना है, उसका नाम मशीन के ऊपर सेट करे। 
  • नाम को सेट करने के बाद उनकी साइज़ के रिक्वाइरमेंट नुसार टिश्यू पेपर की साइज़ को सेट करे। 
  • ये सब सेट होने के बाद आप मशीन को स्टार्ट करे, इसके बाद आपका टिश्यू पेपर ऑटोमैटिक बनके तयार हो जायगा। 
  • इसे आप पैकिंग करके मार्केट मै पोहचा सकते है। 

7. टिश्यू पेपर की पैकिंग

टिश्यू पेपर की पैकिंग की बात करे तो ये बहुत ही आकर्षक पैकिंग होनी चाहिए, जिस वजह से लोग इसे आकर्षित कर पाते है। 

आपका प्रॉडक्ट को मार्केट मै ज्यादा लोगो तक बेचना है, तो इसे आपको आकर्षक बनाना पड़ेगा, और ये आप पैकिंग की मदत से कर सकते है। 

अपने जिस भी कंपनी की प्रॉडक्ट बनाने का काम लिया है, इसे आप अच्छी तरह से पैकिंग करे। 

8. टिश्यू पेपर मार्केट में पहुंचाना 

जब अच्छी पैकिंग होने के बाद टिश्यू पेपर को आप कस्टमर के पास पोहचा सकते है। 

टिश्यू पेपर का बिज़नस सुरू करने मै लागत 

जैसे ही अपने ऊपर पढ़ा टिश्यू पेपर का बिज़नस को आप शहर के आसपास सुरू कर सकते है, इसे आप गाव मै सुरू न करे तो अच्छा है।

टिश्यू पेपर का बिज़नस को सुरू करने के लिए आपको रो मटिरियल, मशीन को पकड़के 7-8 लाख तक का खर्चा आता है। 

मैं टिशू पेपर कैसे बेचूं?

टिश्यू पेपर के Sample आप होटल, मार्ट, बड़े ऑफिस मै देखाके उनसे आप ऑर्डर ले सकते है। आज के टाइम बहुत से होटल है, ऑफिस है, ये ज़्यादातर टिश्यू पेपर का इस्थमाल करते है। 

टिशू पेपर भारत में कैसे बनता है?

टिश्यू पेपर को ऑटोमैटिक मशीन से बनाया ज्याता है। इसके लिए आपको पेपर रोल की जरूरत पड़ती है। इसे आप 60 रूपये किलो के हिसाबसे मंगा सकते है। 

पेपर रोल को मशीन मै सेट करके, कंपनी का लोगो, नाम सेट करने के बाद किस साइज़ का पेपर रोल की जरूरत है, उसे सेट करके आप टिश्यू पेपर को बना सकते है। 

क्या टिशू पेपर हानिकारक है?

टिश्यू पेपर को आप नई तकनीक से बनाएँगे तो ये आपके लिए हनीकरक नहीं है। 

टिशू पेपर में किस पेपर का उपयोग होता है?

टिश्यू पपैर के लिए 15-18 GSM का पेपर का इस्थमाल ज़्यादातर किया ज्याता है, और वही पेपर की डिमांड मार्केट मै ज्यादा है। 

About The Author

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top