पेपर बैग बनाने का बिज़नस कैसे शुरू करें, इसकी मशीन, लाइसेंस, लाभ

पेपर बैग बनाने का बिज़नस कैसे शुरू करें, इसे जानने से पहिले, क्यु इसका बिज़नस करना चाहिए इसके बारे मै जान लेते है। पेपर बैग का बिज़नस ये ऐसा बिज़नस है, जो कभी बंद होने वाला नहीं है। आज मार्केट मै हर जगह, सैक्टर, हर इंडस्ट्री मै पेपर बैग की जरूरत पड़ती है, क्योंकि भारत सरकाने प्लास्टिक के ऊपर निर्बंध लगाए हुये है। 

पेपर बैग ये एक पर्यावरण अनुकूल प्रॉडक्ट है, उसका हमारे निसर्ग के लिए कोई हानिकारक नहीं है। इसका बिज़नस करने से आपको फायदा ही होने वाला है। 

हम ने पेपर बैग बनाने का बिज़नस कैसे शुरू करें, पेपर बैग बनाए के लिए लागत, मशीन, रो मटिरियल, लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन, पेपर बैग बिज़नस मै मिलने वाला फायदा इन सबके बारे मै नीचे पूरी जानकारी दी है। 

पेपर बैग बनाने का बिज़नस कैसे शुरू करें

पेपर बैग का मार्केट स्कोप (Paper Bag Business Market Scope)

दुनियाभर मै बढ़ते हुये प्रदूषण को देखके पेपर बैग की माँग बढ़ती जा रही है। भारत मै प्लास्टिक पर प्रथिबंध लगाया है, इसके कारण मार्केट मै पेपर बैग या कापड़ी बैग का इस्थमाल हो रहा है।

भारत मै आने वाले दिन मै प्लास्टिक के ऊपर और भी कडक प्रतिबंध लगाये जायेंगे, तो इस कारण मार्केट मै दुकानदार आपको पेपर बैग  मै ही सामान देते हुये दिखेंगे।

आप पेपर बैग का बिज़नस करने का प्लान बना रहे हो, तो आपको पहिले उसका मार्केट को समजना होगा, और उसके बाद आप पेपर बैग का बिज़नस सुरू कर सकते है।

पेपर बैग बनाने का बिज़नस कैसे शुरू करें, इसके बारे मै जानने से पहिले इसकी कहा पर माँग है, और कहा पर इस्थमाल किया जाता है, इसके बारे मै जान लेते है।

  • किराना स्टोर
  • कापड़ के दुकान
  • ज्वेलरी शॉप
  • होटल
  • बड़े मार्ट स्टोर
  • मेडिकल स्टोर

हर जगह पर आपको पेपर बैग का इस्थमाल किया हुवा दिखेगा। आप दो चार दुकान को भी पड़कके पेपर बैग का बिज़नस सुरू कर सकते है।

पेपर बैग बनाने का बिज़नस कैसे शुरू करें। (How to start paper bag making business)

हमने पेपर बैग का बिज़नस सुरू करने के लिए आपको इसका मार्केट स्कोप क्या है, इसके बारे मै अवगत किया, अभी हम पेपर बैग बनाने का बिज़नस कैसे शुरू करें। इसके बारे मै जान लेते है।

पेपर बैग का बिज़नस सुरू करने के लिए आपको एक बिज़नस प्लान की जरूरत है, क्योंकि पेपर बैग का बिज़नस के लिए आपको सुरवात मै ज्यादा पैसे की जरूरत पड़नी वाली है।

बुसीनेस प्लान मै आपको:

  • मार्केट स्कोप क्या है।
  • जगह कहा पर होनी चाहिए।
  • जगह के लिए शेड, लाइट, पानी
  • पेपर बैग की मशीन: मशीन कहा पर मिलेगी
  • पेपर बैग बनाने वाली मशीन की क्या कीमत रहेगी
  • पेपर बैग बनाने के लिए रो मटिरियल
  • प्रोसैस
  • खर्चा और लाभ कितना होगा।
  • लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन

उपर जो भी हमने बताया इसका एक पूरा प्लान आपके पास होना चाहिए, क्योंकि आप पेन बनाने के बुसीनेस के लिए आपको 50 हजार तक पैसा लगता था, नोटबूक बनाने के बिज़नस मै 3-4 लाख रूपये, वेलवेट का पेंसिल के बिज़नस मै 3-4 लाख तक खर्चा लगता था।

लेकिन आपको पेपर बैग बनाने का बिज़नस सुरू करने के लिए 20-25 लाख तक का खर्चा लगने वाला है। इसलिए आपके पास बिज़नस प्लान होना जरूरी है।

लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन (License and Registration)

पेपर बैग का आप छोटा बिज़नस करने का प्लान है, तो आप एक ट्रेड लाइसेंस ले सकते है, इसके साथ ही आपको बैंक अकाउंट, पैन कार्ड और GST नंबर की जरूरत पड़ती है।

लेकिन आप इसे बड़े स्तर पर लेके जा रहे हो तो आपको एक कंपनी के रजिस्ट्रेशन करना होगा, उसके बाद ट्रेड लाइसेंस को अप्लाई करना होगा। उसके साथ ही आपको स्माल स्केल इंडस्ट्री मै रजिस्टर करना होगा। पेपर बैग का बिज़नस सुरू करने मै आपको भारतीय मानक ब्यूरो (BIS) का सर्टिफिकेट भी होना जरूरी है।

पेपर बैग का बिज़नस सुरू करने के लिए जगह 

पेपर बैग का बिज़नस सुरू करने के लिए जगह की बात की जाये तो आपको जो पेपर बैग की मशीन आती है, वो ऑटोमैटिक रहती है। और उसको ज्यादा जगह की जरूरत पड़ती है। इसके साथ ही आपको, अलग अलग मशीन की जरूरत पड़ती है। इसमे प्रिंटिंग मशीन, सिलाई मशीन।

इसके साथ आपको रो मटिरियल रखने के लिए जगह चाहिए, आप जो भी माल बनायेंगे उसको रखने के लिए आपको जगह की जरूरत पड़ती है। आप को इस बिज़नस को सुरू करने के लिए कामगार की भी जरूरत पड़ती है, उनके लिए आपको जगह चाहिए।

ये सब पकड़के आपको पेपर बैग का बिज़नस सुरू करने के लिए 2000-2500 sqft की जगह होने की आवश्यक है।

जो पेपर बैग का मशीन होता है, उसको बिजली की जरूरत पड़ती है, और पेपर बैग की मशीन के लिए 5-8kw तक की बिजली लगती है। इसलिए आपको कमर्शियल बिजली का कनैक्शन 10kw तक लेना पड़ता है। इसके साथ पानी भी होना जरूरी है।

पेपर बैग बनाने की मशीन

पेपर बैग की मशीन की बात किए जाये तो आपको ऑटोमैटिक मशीन लगती है, इसमे आप जिस साइज़ का बैग बनाना है, उसे सेट कर सकते है।

मशीन मई भी आपको दो टाइप के मशीन देखने को मिलेंगे।

1. मैन्युअल मशीन

मैन्युअल मशीन से पेपर बैग का बिज़नस सुरू किया तो आपको बैग बनाने के लिए बहुत ही समय लगेगा, और आपका प्रॉडक्शन कम निकलेगा, साथ ही प्रॉफ़िट भी कम होगा।

मैन्युअल मशीन से बिज़नस को सुरू करने के लिए आपको कागद, गम, रूलर और कामगार की जरूरत पड़ती है। आपको इनवेस्टमेंट भी कम और फायदा भी कम होगा।

2. ऑटोमैटिक मशीन 

ऑटोमैटिक मशीन मै पेपर बैग बनाना बहुत ही आसान होगा, आपको खाली पेपर मशीन को लगाना है, वो आपको जिस साइज़ की बैग चाहिए उसे बनाके देगा। ऑटोमैटिक मशीन आपको एक घंटे मै 50kg के बैग को बनाके देगा, और एक दिन मै 300-350kg के आसपास पेपर बैग बनाके देगा। साधारण 7000-8000 पीस।

ऑटोमैटिक मशीन मे भी दो टाइप रहते है, पहिली

  • प्रिंटिंग मशीन: प्रिंटिंग मशीन मै आप नाम, डिज़ाइन, लोगो और कलर मै प्रिंट कर सकते है।
  • बिना प्रिंटिंग मशीन: उसमे आपको प्लेन मै पेपर बैग को बनाके देगा।

इसके साथ ही आप और भी मशीन को पेपर बैग का बिज़नस सुरू करने के लिए ले सकते है:

  • बैग कटिंग मशीन
  • क्रीजिंग मशीन
  • कट हैंडल मशीन
  • एलेट फिटिंग मशीन
  • लेस फिटिंग मशीन
  • पंचिंग मशीन
  • रोल स्लिटर मोटर चालित मशीन
  • स्टीरियो ग्राइंडर और प्रेस
  • परीक्षण स्केल मशीन

पेपर बैग मशीन प्राइस लिस्ट

पेपर बैग का बिज़नस को सुरू करने के लिए आपको किस तरह की मशीन की जरूरत पड़ती है, ये आपने ऊपर देखा।

उसकी पेपर बैग की मशीन की बात की जाये तो, इसकी कोई फिक्स प्राइस मै बता नहीं सकता, आप ऑनलाइन यूट्यूब पर विडियो देखते है, तो आपको वह के जरिये कांटैक्ट कर सकते है। नहीं तो अपो ऑनलाइन इंडिया मार्ट के साइट पर हर एक मशीन दिख जाएगी।

पेपर बैग का बिज़नस सुरू करने के लिए रो मटिरियल 

पेपर बैग का बिज़नस के लिए आपको ज्यादा क्वांटिटी मै मंगाया तो आपको सस्ता भी मिलेगा और आप पेपर बैग आसनीसे बना सकते हो।

पेपर बैग बनाने के लिए आपको कोनसा मटिरियल की जरूरत पड़ती है, इसके बारे मै जान लेते है।

  • क्राफ्ट पेपर शीट
  • पेपर रोल्ल: अलग अलग कलर मै मिलते है।
  • इंक, प्रिंटिंग के लिए केमिकल
  • Eyelets
  • Laces और Tags
  • पॉलियस्टर स्टीरियो
  • ग्लू
  • हैंडल

ऊपर जो भी हमने पेपर बैग के लिए मटिरियल की पड़ती है इसके बारे मै बताया, इस पेपर बैग से आप किस तरह की बैग बना सकते है, इसके बारे मै जान लेते है।

  • खाद्य पदार्थों रखने के लिए
  • किराना का समान रखने के लिए
  • दवाओं के लिए
  • शॉपिंग के लिए
  • पैकिंग के लिए
  • ज्वेलरी रखने के लिए

पेपर बैग कैसे तैयार किए जाते हैं। (How paper bags are made)

पेपर बैग कैसे बनाये जाते है, इसके बारे मे बात करे तो पेपर बैग बनाने की ऑटोमैटिक मशीन रहती है, जो की आपको रिक्वाइरमेंट के नुसार पेपर बैग को बनाके देती है। 

इसमे आपको किस साइज़ की पेपर बैग चाहिए उस साइज़ को मशीन मै डालके, पेपर का रोल मशीन को सेट करना पड़ता है, आपको ऑटोमैटिक बैग बनके मिलेगी। 

जैसे की हमने ऊपर देखा, ऑटोमैटिक मशीन मे अलग-अलग तरीकेके होती है, इसलिए इसका एकदम सही प्रोसीजर बताना मुश्किल है। आप जहा पर मशीन की खरेदी करोगे, वहा से आपको पूरा प्रोसीजर बता जायगा। 

मैनुअल मशीन की बात करे तो आपको खुद हात से पूरा काम करना पड़ेगा। 

क्या पेपर बैग व्यवसाय लाभदायक है?

हो, पेपर बैग बनाने का बिज़नस लाभदायक है,क्योंकि आज पूरे भारत मै प्लास्टिक के ऊपर बैन है, और आने वाले दिन मै, और भी कडक निर्बंध उसपर लागू होने वाले है। 

दूसरी बात ये ही की इसमे आपको सुरवात मै 20-25 लाख तक की इनवेस्टमेंट की तो आपको इसमे हर महीने 1 लाख के ऊपर फायदा मिल सकता है। 

पेपर बैग का बिज़नस सुरू करने के लिए खर्चा 

पेपर बैग का बिज़नस आप छोटे तौर पर भी सुरू कर सकते है, और बड़े तौर पर भी इसकी सुरवात की जाती है। 

आप इसको छोटे तौर पर सुरू करते है, तो आपको 3-5 लाख तक खर्चा लग सकता है। और बड़े तौर पर आपको 20-25 लाख तक खर्चा जा सकता है। 

पेपर बैग का बिज़नस मै लाभ 

आप किस तरह मशीन को लगाते है, उसपर आपको इस बिज़नस मै लाभ देखने को मिल सकता है, आप छोटी मशीन लगावोगे तो आपको 50-70 हजार तक महिना प्रॉफ़िट हो सकता है। 

बड़ी मशीन से पेपर बैग का बिज़नस को सुरू करते है तो आपको 1.5 लाख के ऊपर फायदा देखने को मिलता है। 

Manual अपने हात से पेपर बैग बनाते हो तो आपको 15-20हजार के आसपास आप हर महीने कमा सकते हो। 

पेपर बैग का बिज़नस के लिए मार्केटिंग 

पेपर बैग की जरूरत आपको हर जगह लगने वाली है, आप मेडिकल स्टोर, किराना स्टोर, कपड़ा मार्केट, बड़े मार्ट, ज्वेलरी शॉप, फूड मार्केट, यादी।  

इस जगह पर जाके आप अपने पेपर बैग को दिखाके उसे बेच सकते हो, एक बार आपका ब्रांड मार्केट मै हो गया तो आपको दुबारा इसकी मार्केटिंग करने की जरूरत नहीं है। 

About The Author

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top