SIP: एसआईपी कैसे शुरू करें, रेगुलर प्लान वर्सेस डायरेक्ट प्लान

अपने खूप सारे आर्टिक्ल पढे होंगे जो आपको एसआईपी क्या है, इसके फायदे इसके बारे मै बताते है, लेकिन कोई भी आपको क्लियर्लि ये नहीं बताता की एसआईपी कैसे शुरू करें। 

आप एक अच्छे जगह से एसआईपी की सुरवात करते है तो आप 20-25 लाख का नुकसान से बच सकते है, हमने नीचे आप किस तरह से अपने पैसे को बचा सकते है, इसके बारे मै डीटेल मै आपको बताया है। 

नीचे हमने SIP: एसआईपी कैसे शुरू करें, रेगुलर प्लान वर्सेस डायरेक्ट प्लान, एसआईपी क्या है, ऑनलाइन एसआईपी कैसे सुरू कर सकते है, इसके बारे मै डीटेल मै जानकारी दी है। 

एसआईपी कैसे शुरू करें

एसआईपी क्या है। (SIP kya hai Hindi)

एसआईपी यानी की Systematic Investment Plan जो की आपको हर महिने एसआईपी के जरिये या वन टाइम निवेश करने का मौका देता है। आप छोटी – छोटी राशी इसमे जमा करके 15-20 साल मै करोड़ो रुपया तक का रिटर्न पा सकते है। 

एसआईपी मै आप कम से कम 1000 रुपये हर महिने के हिसाबसे निवेश कर सकते है, और आपको आने वाले टाइम मे एक अच्छा रिटर्न देखने को मिल सकता है। 

एसआईपी ने आज तक लोगो को बढ़ी अवधी के लिए अच्छे रिटर्न दिये है, आपको 15 साल मै एसआईपी ने सालाना 15% तक के रिटर्न देखने को मिला है। 

आप एसआईपी मै हर महिने 15 हजार रुपये निवेश करते है तो आपको 15 साल मै 1 करोड़ रुपये तक का रिटर्न देखने को मिल सकता है। 

एसआईपी कैसे शुरू करें

यदि आप कुछ भी नहीं कमा रहे है, और आप महिने को 100 रुपये ही निवेश करते है, तो आपको एसआईपी मै 30 साल के बाद 7 लाख रूपये तक का रिटर्न देखने को मिल सकता है। 

मैने एक LIC का प्लान लिया है, उसमे मै हर महिने 1000 रूपये के आसपास जमा करता हु, और 25 साल के बाद मै कुल 3 लाख रूपये जमा करके 7 लाख रूपये वापस मिलेंगे। लेकिन वही पैसे मै एसआईपी मै लगता हु तो मुजे 32 लाख रूपये तक का रिटर्न 25 साल मै देखने को मिल सकता है। 

एसआईपी मै आप दो तरीकेसे निवेश कर सकते है, एक आप ब्रोकर के जरिये और दूसरा आप डाइरैक्ट इनवेस्टमेंट एप्लिकेशन के जरिये निवेश कर सकते है। 

जब आप ब्रोकर के पास जाते है तो वो आपको रेगुलर प्लान देता है इसमे Expense ratio ज्यादा रहता है, और आप डाइरैक्ट एप्लिकेशन के जरिये निवेश करते है तो आप डाइरैक्ट प्लान खरीद सकते है। 

रेगुलर प्लान वर्सेस डायरेक्ट प्लान (Direct vs Regular Plan)

जब आप पहिली बार एसआईपी सुरू करते है तो को कोई एजेंट आके एसआईपी के बारे मै बताता है, वो अपना या किसिका रिटर्न दिखाके आपसे एसआईपी की सुरवात करवाता है, उसी टाइम हम एजेंट के जरिये एसआईपी की सुरवात करते है और ये हमको रेगुलर प्लान बेचता है। एजेंट तो आपसे कोई पैसा नहीं लेता लेकिन जिस कंपनी का एसआईपी सुरू कर रहा है, वो कंपनी उसको पैसे देती है। 

एसआईपी को सुरू करना कोई बुरी बात नहीं है, लेकिन डाइरैक्ट और रेगुलर प्लान क्या है ये हमको पता होना चाहिए।

एसआईपी कैसे शुरू करें

रेगुलर प्लान 

  • रेगुलर प्लान आपको एसआईपी एजेंट, बैंक, एनबीसीसी, जैसे डिस्ट्रीबूतर आपको रेगुलर प्लान बेचते है।
  • रेगुलर प्लान मै आपको Expanse ratio ज्यादा रहता है, क्योंकि म्यूचुअल फ़ंड हौसेस को उनके डिस्ट्रीबूटोर को कमिशन देना पड़ता है, उस वजह से रेगुलर प्लान की NAV की कीमत कम रहती है। 
  • Expanse ratio कम होने की वजह से रेगुलर प्लान के रिटर्न आपको कम देखने को मिलते है।  

डाइरैक्ट प्लान 

  • डाइरैक्ट प्लान आपको फ़ंड हौसेस, कोई ब्रोकरेज अप्प (Groww, Zerodha) जैसे आपको बेचते है। 
  • डाइरैक्ट प्लान मै आपको expense ratio कम रहता है, उस वजह से उस प्लान की NAV की कीमत ज्यादा रहती है। 
  • Expense ratio कम होने की वजह से आपको रिटर्न ज्यादा देखने को मिल सकते है। 

एसआईपी कैसे शुरू करें

ऊपर हमने SBI Small Cap Fund के पिछले 10 साल के रिटर्न लिये है, उसमे आपको ये बताने की कोशिश की है की अप 15 हजार हर महीने के हिसाबसे 10 साल तक रेगुलर प्लान से एसआईपी करते है, आपको 10 साल मे 6.72 लाख रूपये का नुकसान कैसे पोहचा जा सकता है। 

तो यही अंतर है डाइरैक्ट vs रेगुलर प्लान मै 

एसआईपी कैसे शुरू करें (SIP kaise chalu kare)

ऊपर हमने एसआईपी क्या है, एसआईपी मै आपको डाइरैक्ट और रेगुलर प्लान मिलते है तो इसमे आपको कोनसा लेना चाहिए, इन प्लान मै क्या फरक है, इसके बारे मै आपको मैंने डिटेल मै जानकारी दी है। 

ये तो हो गया लेकिन एसआईपी कैसे शुरू करें ये सवाल आपके मन मे आता होगा, और इसके बारे मै मै नीचे आपको डीटेल मै जानकारी दी है। 

1. म्यूचुअल फ़ंड डिस्ट्रीब्यूटर से 

म्यूचुअल फ़ंड डिस्ट्रीब्यूटर आपको एसआईपी के बारे मै पूरी जानकारी देके आपके गोल क्या है, आप कितने साल तक निवेश कर सकते है, इसके हिसाब से आपको कोनसे प्लान मै निवेश करना है, इसके बारे मै विस्तार से बताता है। 

म्यूचुअल फ़ंड डिस्ट्रीब्यूटर से आप निवेश करके उनका जो भी एप्लिकेशन होगा उसीसे आप निवेश भी कर सकते है, और उस अप्प से अपने फ़ंड का परफॉर्मेंस भी देख सकते है। उससे पैसे भी निकाल सकते है, ये सारे कम आप डिस्ट्रीब्यूटर के प्लैटफ़ार्म से कर सकते है। 

लेकिन ये म्यूचुअल फ़ंड डिस्ट्रीब्यूटर आपको रेगुलर प्लान बेच देता है, ऊपर हमने आपको 10 साल मै 6 लाख रुपये तक का नुकसान रेगुलर प्लान मे कैसे हो सकता है, ये बताया है। और आप 25 साल तक डिस्ट्रीब्यूटर से निवेश करते है तो आपको 25 लाख तक का नुकसान हो सकता है। 

2. बैंक मै जाके 

आप HDFC बैंक, ICICI bank, SBI बैंक मै जाके म्यूचुअल फ़ंड मै निवेश कर सकते है, ये बैंक खाली उनके ही फ़ंड नहीं बेचते, उनके पास हर एक म्यूचुअल फ़ंड होता है, जो आपको बेचते है। 

आपके पास इन बैंक के मोबाइल बैंकिंग होगा तो घर बैठके ऑनलाइन बैंक के जरिये म्यूचुअल फ़ंड खरीद सकते है। 

लेकिन ये भी बैंक आपको रेगुलर प्लान ही बेचते है, इस वजह से आपको 15-20 साल मै कम प्रॉफ़िट देखने को मिल सकता है। 

3. ऑनलाइन ब्रोकर के जरिये 

आप शेयर मार्केट ट्रेडिंग के लिए Zerodha, Groww, Upstock जैसे अप्प को इस्थमाल करते होंगे तो उससे आप ऑनलाइन म्यूचुअल फ़ंड भी खरीद सकते है। 

Groww ये एक अच्छा प्लैटफ़ार्म है जो की आपको डाइरैक्ट प्लान देता है, कोई भी कमिशन ना लेके, उससे आप आनेवाले टाइम मै अच्छा रिटर्न मिल सकता है। 

एसआईपी कैसे शुरू करें

जो ब्रोकर डाइरैक्ट प्लान बेचते है, उनको भी सेबी ने जवाब मांगा है की आप डाइरैक्ट प्लान फ्री मै कैसे बेच रहे है। 

इसवजह से ये एप्लिकेशन आने वाले टाइम मै आपसे कुछ फीस ले सकते है, या म्यूचुअल फ़ंड हौसेस से फी ले सकते है, उस वजह से म्यूचुअल फ़ंड हौसेस expense ratio को बढ़ा सकते है। 

4. म्यूचुअल फ़ंड हौसेस से 

आपको डाइरैक्ट प्लान मै निवेश करना है, तो आप उस म्यूचुअल फ़ंड के ऑफिस या उनके वैबसाइट से डाइरैक्ट प्लान खरीद सकते है, उयसे आपको आने वाले टाइम मै, ज्यादा जोखिम भी नहीं रहेगी और आप आरामसे बिना कोई एक्सट्रा फीस देके डाइरैक्ट प्लान खरीद सकते है। 

लेकिन उसमे सबसे बड़ी दिक्कत ये है की, आप अलग अलग कंपनी के म्यूचुअल फ़ंड खरीद रहे है, तो हर एक के वैबसाइट या उनके ऑफिस मै जाना पड़ सकता है। 

जिस वजह से आपको म्यूचुअल फ़ंड को manage करना मुश्किल हो सकता है। 

आप कोई भी एक ही म्यूचुअल फ़ंड खरीद रहे है तो आप आराम से उस म्यूचुअल फ़ंड हौसेस से खरीद सकते है, उनके लिए ये के अच्छा विकल्प है। 

5. MF Central  

MF सेंट्रल ये एक ऐसा प्लैटफ़ार्म है, जो आपको डाइरैक्ट और रेगुलर प्लान मै फ्री मै निवेश करने का मौका देता है। 

MF सेंट्रल को CAMS और KFINTECH इन दोनों ने मिलके बनाया है। 

आप जहा पर भी म्यूचुअल फ़ंड मै निवेश कर रहे है, ये प्लैटफ़ार्म पर आपको वो सब म्यूचुअल फ़ंड दिख जायेंगे। 

एसआईपी कैसे शुरू करें

आप रेगुलर प्लान मे निवेश करते है तो आपको एजेंट का id माँगेगा और डाइरैक्ट प्लान मै निवेश डाइरैक्ट आप खुद कर सकते है। 

आप जहा पर निवेश कर रहे है, और आपका ब्रोकर बंद हो गया तो आप MF सेंट्रल से अपने फ़ंड को निवेश करना जारी रख सकते है, साथ ही आप MF सेंट्रल से अपने निवेश किए हुये पैसे को निकाल भी सकते है। 

ऑनलाइन सिप कैसे करे (Online SIP kaise suru Kare)

एसआईपी यानी की systematic investment Plan जो की आपको लॉन्ग टर्म मै निवेश करने का मौका देता है। एसआईपी से आप financial फ्रीडम पा सकते है, और आने वाले टाइम आप एक अच्छा खासा रिटर्न पा सकते है, तो नीचे हम ऑनलाइन एसआईपी कैसे कराते है इसके बार मै जन लेते है। 

ऑनलाइन SIP करने के लिए आप Groww का इस्थमाल कर सकते है, उसके बाद आपको ऑनलाइन एसआईपी करने के लिए जो फ्री प्लैटफ़ार्म है, हमने ऊपर डिस्कस किया है। 

About The Author

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top