सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम क्या है, सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड कैसे खरीदें, फायदे और नुकसान

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम क्या है:  RBI ने 2023-24 वित्तीय वर्ष के लिए सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम की पहिली सिरीज़ आज से 19-23 जून के बीच मै सुरू करने का ऐलान किया है। इसे आप 5 दिन मै अप्लाई कर सकते है, और 27 जून को आपको सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड मिलंगे। 

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड ये एक ऐसा बॉन्ड है, जो की आपको फ़िज़िकल की बजाय डिजिटल के रूप मै आरबीआई के ध्वारा खरीद सकते है, आपको भविष्य के लिए सोना खरीदना है तो सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड ये एक अच्छा विकल्प है। 

इससे आपको जिस तरह सोने का भाव बढ़ता है, उसी के हिसाब से रिटर्न और उसके साथ ही आरबीआई आपको सालाना 2.5% तक का एक्सट्रा व्याज देता है। 

तो आज हम सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम क्या है, सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड कैसे खरीदें, इसके फायदे और नुकसान, कहा पर मिलेगा इसके बारे मै विस्तार से समजेंगे।  

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम क्या है

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम क्या है। (Sovran Gold Bond Scheme kya hai)

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड ये एक ऐसी स्कीम है, जिसे आप ऑनलाइन डिस्काउंट मै सोना खरीद सकते है, जो लोग फ़िज़िकल गोल्ड लेके अपने घर मै रखते है, इसके लिए सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम ये एक अच्छी स्कीम है।

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड ये RBI के ध्वारा सुरू की गई स्कीम है, जिसे पहिली बार नवम्बर 2015 मै सुरू किया गया था। आज यानी सोमवार से 19 जून से 23 जून तक 2023-24 का पहिला सिरीज़ आरबीआई के ध्वारा सुरू किया जा रहा है।

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड अपने खरीदा तो उसे आप 8 साल तक बेच नहीं सकते और आठ साल के बाद आपको जो भी पैसा मिलता है, ये पूरा पैसा टैक्स फ्री रहता है।

आपको सरकार सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड पर हर साल 2.5% का व्याज भी देती है, जोकि आपको हर 6 महीने मै आपके बैंक अकाउंट मै जमा होता है।

सॉवरेन बॉन्ड की मेचूरिटि 8 साल की होती है, आप 5 साल के बाद आरबीआई बॉन्ड वापस करते है तो आपको पूरा पैसा टैक्स फ्री रहता है।

आपको आठ साल के पहिले भी सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड को बेचना है तो उसे आप सेकेंडरी मार्केट मै बेच सकते है, लेकिन आपको जो भी रिटर्न मिलगा ये टैक्स फ्री नहीं होगा।

आप सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड 3 साल के पहिले बेच दिया तो आपको टैक्स स्लैब के हिसाब से टैक्स को देना पड़ेगा, और आप तीन साल के बाद बेचते है तो आपको 20% LTCG देना पड़ेगा।

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम 2023-24

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने आज से 19 जून से 23 जून तक 2023-24 का पहिला सिरीज़ को सुरू किया गया है, इसका प्राइस आरबीआई ने 5926 रूपये प्रती ग्राम रखा है। सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड का इशू प्राइस 999 शुद्ध सोने की कीमत के आधार पर पिछले हफ्ते के 3 दिन के सोने के प्राइस से तय होता।

जो लोग ऑनलाइन डिजिटल मै पेमेंट करते है, उनके लिए 50 रुपया का प्रती ग्राम डिस्काउंट दिया जायगा, यानी की उनको 5876/ग्राम के हिसाब से सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड मिलेगा।

आप कॅश, चेक के रूप 20 हजार रुपये तक का ही पेमेंट कर सकते है।

27 जून को आपको बॉन्ड इशू किए जायेंगे।

आरबीआई ने इस साल के II सिरीज़ के तारीख का भी ऐलान किया है।

  • I सिरीज़ : 19 -23 जून
  • II सिरीज़: 11-15 सेप्टेम्बर
  • III सिरीज़:  दिसम्बर (Expected)
  • IV सिरीज़ : मार्च (Expected)

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड एक वित्तीय वर्ष मै एक आदमी 1 ग्राम से 4 किलो तक का सोना खरीद सकता है।

कोण खरीद सकता है सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड 

आरबीआई के अनुसार कोई भी भारतीय नागरिक, एचयूएफ, ट्रस्ट, यूनिवर्सिटी और चैरिटेबल संस्था सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड खरीद सकती है। एक व्यक्ती और एचयूएफ 1 ग्राम से 4 किलो तक खरीद सकते है, ट्रस्ट और संस्थाये 20 किलो तक सोना खरीद सकते है।

माता पिता अपने बच्चे के नाम पर भी 4 किलो तक का सोना खरीद सकते है।

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड कैसे खरीदें।

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड खरीदने के खूप सारे ऑप्शन है, जहा पर जाके आप सोने को खरीद सकते है।

  • प्राइवेट बैंक: स्माल फ़ाइनेंस बैंक छोड़के
  • गवर्नमेंट बैंक
  • पोस्ट ऑफिस
  • NSE, BSE: उनके जो ब्रोकर (Zerodha, Groww, etc) है उनसे भी आप खरीद सकते है।
  • SHCIL: स्टॉक होल्डिंग कार्पोरेशन ऑफ इंडिया।

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के फायदे

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड जिसे भारत सरकार ध्वारा आरबीआई के तहत इशू किया ज्याता है, इसके हमारे लिए क्या फायदे है, ये जान लेते है।

1. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड की पहिली सिरीज़ नवम्बर 2015 मै सुरू हुयी थी, उसी टाइम प्रती ग्राम सोने की कीमत 2684 रूपये थी और आज के सिरीज़ की प्राइस 5926 रूपये है, मतलब आपको 8 साल मै लगबग सोने ने डबल से भी ज्यादा रिटर्न दिया है, और उसके साथ आपको हर साल आरबीआई के ध्वारा 2.5% का व्याज भी दिया गया है।

2. लास्ट 2022-23 साल मै सोने ने करीबन आपको 18% तक का रिटर्न दिया है।

3. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड मै आपको जिस तरह सोने को भाव बढ़ता है, उसी तरह आपको फायदा मिलता है, और साथ ही आपको सरकार ध्वारा 2.5% का व्याज एक्सट्रा मिलता है।

4. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड मै मेचूरिटि के टाइम मै आपको जितना भी पैसा मिलता है, ये पूरा टैक्स फ्री रहता है।

5. आप इनवेस्टमेंट के लिये दुकान से सोना खरीदते है, उसमे आपको मेकिंग Charges 12-16%, GST 3% देके खरीदते है, उसके बाद आप को चोरी होने का डर, लेकिन सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड मै ये सब आपको देना नहीं पड़ेगा।

6. आप अपने बच्चे के शादी के लिए फ़िज़िकल की बजाये सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड खरीद सकते है, आपको पूरी सुरक्षा के साथ रिटर्न भी अच्छे मिलंगे। जब आपको चाहिए उसी टाइम बेचके आप फ़िज़िकल गोल्ड ले सकते है।

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के नुकसान 

1. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड की मेचूरिटि 8 साल तक रहती है, यानी की आप उसे आठ साल के पहिले बेच दिया तो आपको टैक्स मै फायदा नहीं मिलेगा।

2. आपके के पास फ़िज़िकल गोल्ड रहेगा तो आप उससे लोन ले सकते है, लेकिन सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड पर लोन नहीं मिलता।

3. भविष्य मै सोने की किमते बढ़ेगी इसकी कोई बता नहीं सकता, इसकी कीमत कम हो गई तो हमे लॉस हो सकता है।

फ़िज़िकल गोल्ड और सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के बीच मै अंतर 

फ़िज़िकल गोल्ड यानी की वो गोल्ड उसे आप दुकान मै जाके खरीद सकते है, जोकि सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड आप ऑनलाइन बैंक से खरीद सकते है।

फ़िज़िकल गोल्ड मै आपको 12-16% तक के मेकिंग charges, 3% जीएसटी देनी पड़ती है, लेकिन सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड को आपको ये सब देना नहीं पड़ता।

फ़िज़िकल गोल्ड आप बेचने जायोगे तो आपको जिस टाइम सोने के भाव है, उसी हिसाब से दुकान दार लेता है, उसमे आपको मेकिंग charges, जीएसटी वापस नहीं देता। लेकिन सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड पर आपको हर साल गवर्नमेंट के ध्वारा 3% तक व्याज मिलता है, और उसी टाइम सोने का जो भाव है, उसी के हिसाबसे खरीदा ज्याता है।

फ़िज़िकल गोल्ड आपको चोरी होने का डर, खोने का डर ये सब रहता है। लेकिन सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड मै ये सब नहीं रहता।

सॉवरेन गोल्ड बांड कैलकुलेटर

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड पर आपको फ़िक्स्ड रिटर्न calculate नहीं कर सकते, आप जिस टाइम सोने को बेच रहे है, उसी टाइम क्या भाव है, उसी के हिसाब से आपसे सोना वापस लिया ज्याता है।

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के लिए कौन सा बैंक सबसे अच्छा है?

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड आपको प्राइवेट और सरकारी (स्माल फ़ाइनेंस बैंक छोड़के) बैंक मै मिलता है, आपको नजातिक कोनसा बैंक है वहा पर जाके उसे खरीद सकते है।

सरकारी बैंक मै आप स्टेट बैंक ऑफ इंडिया और प्राइवेट मै ICICI बैंक ये अच्छा बैंक है। और उन बैंक के मोबाइल बैंकिंग आपके पास एक्टिव है तो आप घर बैठके ऑनलाइन सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड खरीद सकते है।

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड 2023 में कब उपलब्ध होगा?

आरबीआई के ध्वारा इस साल का 2023-24 का सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड की I सिरीज़ 19 जून से 23 जून तक लॉंच की है।

  • I सिरीज़ : 19 -23 जून
  • II सिरीज़: 11-15 सेप्टेम्बर
  • III सिरीज़:  दिसम्बर (Expected)
  • IV सिरीज़ : मार्च (Expected)

सेकेंडरी मार्केट में सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड को RBI के ध्वारा साल मै 4 बार ही लॉंच किया ज्याता है, उसके बाद हम सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड RBI के ध्वारा खरीद नहीं सकते।

लेकिन हम सेकेंडरी मार्केट से सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड को खरीद सकते है, सेकेंडरी मार्केट मै गोल्ड बॉन्ड हम NSE, BSE के ब्रोकर के जरिये वो भी डिस्काउंट मै खरीद सकते है।

ऑनलाइन ब्रोकर मै आप Groww, Zerodha और भी है, उसने खरीद सकते है।

आपको जिस तरह आरबीआई के ध्वारा सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड खरीदने पर फायदा मिलता है, उसी तरह सेकेंडरी मार्केट से फायदा मिलता है।

सेकेंडरी मार्केट मै खरीदे गोल्ड बॉन्ड की वैलिडिटि अपने कोनसी सिरीज़ का लिया है, और RBI ने इशू कराते टाइम उसकी मेचूरिटि डेट क्या थी वही रहेगी।

उसके साथ आपको हर 2.5% तक व्याज सेकेंडरी मार्केट से गोल्ड बॉन्ड खरीदने पर मिलेगा, और मेचूरिटि के टाइम आपको पूरा टैक्स फ्री पैसा मिलेगा।

क्या गोल्ड बॉन्ड बेचा जा सकता है?

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड का 8 साल के बाद मेचूरिटि होती है, लेकिन चाहे तो उसे आप Secondary मार्केट मै भी बेच सकते है, 5 साल के बाद आप RBI सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड वापस कर सकते है।

3 साल के पहिले उसे बेचते है तो आपको रेगुलर टैक्स सल्ब के हिसाब से टैक्स पे करना पड़ेगा, 3 साल के बाद बेचते है तो आपको 20% LTCG टैक्स देना पड़ेगा।

क्या हम 5 साल से पहले सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड बेच सकते हैं?

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड का 8 साल के बाद मेचूरिटि होती है, लेकिन चाहे तो उसे आप Secondary मार्केट मै भी बेच सकते है, 5 साल के बाद आप RBI सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड वापस कर सकते है।

3 साल के पहिले उसे बेचते है तो आपको रेगुलर टैक्स सल्ब के हिसाब से टैक्स पे करना पड़ेगा, 3 साल के बाद बेचते है तो आपको 20% LTCG टैक्स देना पड़ेगा।

NRI पर्सन सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड खरीद सकता है क्या? 

नहीं, सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड खाली भारतीय नागरिक खरीद सकता है।

About The Author

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top