UPI और RBI Digital Currency में क्या अंतर है।

RBI ने हाल मै ही CBDC के ध्वारा डिजिटल रुपिया की पायलट प्रोजेक्ट की घोषणा की, और इसके साथ ही लोगो के मन मे सवाल आने लगे की UPI होते हुये RBI ने डिजिटल रुपिया को क्यो लॉंच किया गया। 

इसके पहिले हमने RBI Digital Currency क्या है, और UPI क्या है, इन दोनों के बारे मै डीटेल मै जानकारी दी है। आज हम UPI और RBI Digital Currency में क्या अंतर है। इसके बारे मै डीटेल मै जानकारी लेंगे। UPI और RBI Digital Currency में क्या अंतर है

UPI क्या है? 

UPI का पूरा नाम यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफ़ेस है। यह एक ऐसा प्लेटफॉर्म है, जिसकी मदद से आप कभी भी अपने बैंक खाते से, अपने दोस्त के खाते या रिश्तेदार के खाते में पैसे भेज सकते हैं और अगर आपको किसी को भुगतान करना है तो भी आप आसानी से यूपीआई का उपयोग कर सकते हैं।

UPI की सहायता से आप किसी भी प्रकार का भुगतान कर सकते हैं, जैसे यदि आपने ऑनलाइन कुछ सामान खरीदा है तो आप UPI से भुगतान कर सकते हैं या फिर यदि आप कुछ खरीदने के लिए बाजार गए हैं तो भी आप UPI का उपयोग करके भुगतान कर सकते हैं।

टैक्सी का किराया, मूवी टिकट का पैसा, एयरलाइन टिकट का पैसा, मोबाइल रिचार्ज और डीटीएच रिचार्ज, ये सभी भुगतान आप UPI के माध्यम से कर सकते हैं, और ये भुगतान बहुत तेज़ हैं और पैसा आपके बैंक खाते से किसी और के बैंक खाते में तुरंत स्थानांतरित हो जाता है।

RBI Digital Currency क्या है?

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया यानी की आरबीआई ने 1 दिसम्बर 2022 से सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी (CBDC) का पायलट प्रोजेक्ट को लॉंच किया गया। डिजिटल रुपया ये टेक्नालजी ब्लॉक चैन पर आधारित है।

डिजिटल करेंसी यानी की e-रुपया जोकि आप उसको डिजिटल के रूप मै अपने अकाउंट मै रख सकते है, ये डिजिटल रुपया आप लेन देन करने, मार्केटिंग के लिए, यादी के लिए इस्थमाल कर सकते है।

जैसे आप यूपीआई से पेमेंट करते है, वैसे ही डिजिटल रुपया से आप पेमेंट कर सकते है, इसके लिए आप अपने e -रुपया वैलट मै डिजिटल रुपया को जमा करके उससे पेमेंट हो जाता है।

इस डिजिटल करेंसी को आप ऑनलाइन सामान खरीदने के लिए, पैसे भेजने के लिए इस्थमाल कर सकते है।

सेकेंडरी मार्केट मै डिजिटल रुपया को government securities और मार्केट मै transition करने के लिए उपयोग किया जा सकता है।

इस डिजिटल रुपया को अपनानेके लिए 9 पब्लिक और प्राइवेट बंकोंको पर्मिशन दी गई है। ये बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ Baroda, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, एचडीएफ़सी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, आईडीएफ़सी फ़र्स्ट बैंक और लास्ट मै एचएसबीसी बैंक।

UPI और RBI Digital Currency में क्या अंतर है

1. RBI डिजिटल करेंसी ये एक लीगल टेंडर है, जहा से आप डिजिटल ट्रैनजिशन कर सकते है, वही UPI ये एक प्लैटफ़ार्म है जो आपको पैसे भेजने मै मदत करता है। 

2. UPI के तहत आप जो भी ट्रैनजिशन करते है, ये NEFT और RTGS के तहत बैंक की तरफ से होते है, वही आप डिजिटल रुपिया एक वैलट से दूसरे वैलट मै भेजते है। 

3. UPI मै आपको पैसे भेजने की लिमिट है, लेकिन डिजिटल रुपया आप कितने भी रुपए भेज सकते है। 

डिजिटल करेंसी vs UPI फरक 

 

Digital Currency  UPI 
1. डिजिटल करेंसी एक कॅश है, जिसे हम digitally अपने वैलट मै स्टोर करके रख सकते है।  UPI ये एक पैसे की लेन देन करने का जरिया है। 
2.  हम डिजिटल करेंसी को पैसे जैसे सटोरे करके रख सकते है।   UPI का इस्थमाल पैसे को भेजने के लिए किया जाता है, उसमे करेंसी स्टोर नहीं की जाती, ये डाइरैक्ट बैंक से लिंक होता है। 
3.  पैसे हम एक वैलट से दूसरे वैलट मै भेज सकते है।  UPI की मदत से पैसे हम एक बैंक से दूसरे बैंक मै भेज सकते है। 
4.  डिजिटल करेंसी से भेजे हुये पैसे दूसरे अकाउंट मै तुरुन्त चले जाते है।  UPI से हम किसी दुकानदार को पैसे भेजते है, तो 24 घंटे तक का समय लगता है। 
5.  डिजिटल करेंसी के ऊपर बैंक की और से कोनसा भी इंटरेस्ट मिलता नहीं है।  UPI बैंक से लिंक है, और सविंग बैंक मै हमे इंटरेस्ट मिलता है। 
6.  डिजिटल करेंसी मै कोई फ्रॉड हो गया तो उनके पैसे को ट्रक किया जा सकता है।  UPI मै ये पॉसिबल नहीं है। 
7.  जैसे हमे बैंक से कॅश भेजने मै पैन कार्ड  लगता है, उसी तरह डिजिटल करेंसी 1 लाख के ऊपर भेजने के लिए पैन कार्ड की जरूरत पड़ती है।   UPI मै जो लिमिट है, उसी हिसाबसे हम पैसे भेज सकते है, वह पर कोई भी पैन कार्ड की जरूरत नहीं पड़ती। 

About The Author

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top