UPI क्या है, कैसे काम करता है?, फायदे और नुकसान

अगर आप भी अपने स्मार्टफोन से रोजाना इस्तेमाल होने वाली चीजों के लिए भुगतान करते हैं, तो आपको UPI की समस्या का सामना करना पड़ा होगा। यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस या यूपीआई का उपयोग मोबाइल प्लेटफॉर्म से किसी अन्य बैंक खाते में पैसे ट्रांसफर करने के लिए किया जाता है।

यह एक अवधारणा है जो एक मोबाइल एप्लिकेशन के माध्यम से कई बैंक खातों में धन हस्तांतरण की अनुमति देती है। इसे नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) द्वारा विकसित किया गया है। इसका नियंत्रण रिज़र्व बैंक और भारतीय बैंक संघ द्वारा किया जाता है।

आज हम इस आर्टिकल मै UPI क्या है, UPI क्या इस्थमाल कैसे करे, यूपीआई कैसे काम करता है, इसके फायदे और नुकसान क्या है, यूपीआई की विशेषताएं क्या हैं? इन सब के बारे मै हम 360 जानकारी इस साइट पर जानेंगे।

UPI क्या है, कैसे काम करता है?

 

 

UPI क्या है (What is UPI hindi)

UPI का पूरा नाम यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफ़ेस है। यह एक ऐसा प्लेटफॉर्म है, जिसकी मदद से आप कभी भी अपने बैंक खाते से, अपने दोस्त के खाते या रिश्तेदार के खाते में पैसे भेज सकते हैं और अगर आपको किसी को भुगतान करना है तो भी आप आसानी से यूपीआई का उपयोग कर सकते हैं।

UPI की सहायता से आप किसी भी प्रकार का भुगतान कर सकते हैं, जैसे यदि आपने ऑनलाइन कुछ सामान खरीदा है तो आप UPI से भुगतान कर सकते हैं या फिर यदि आप कुछ खरीदने के लिए बाजार गए हैं तो भी आप UPI का उपयोग करके भुगतान कर सकते हैं।

टैक्सी का किराया, मूवी टिकट का पैसा, एयरलाइन टिकट का पैसा, मोबाइल रिचार्ज और डीटीएच रिचार्ज, ये सभी भुगतान आप UPI के माध्यम से कर सकते हैं, और ये भुगतान बहुत तेज़ हैं और पैसा आपके बैंक खाते से किसी और के बैंक खाते में तुरंत स्थानांतरित हो जाता है। 

UPI का मतलब क्या है। (UPI meaning in Hindi)

NPCI ने UPI लॉन्च करने की पहल की है. NPCI का पूरा नाम नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया है, एक संगठन जो वर्तमान में भारत में सभी बैंकों के एटीएम और उनके बीच अंतरबैंक लेनदेन का प्रबंधन करता है।

उदाहरण के लिए, यदि आपके पास एक्सिस बैंक का एटीएम कार्ड है, तो आप आईसीआईसीआई बैंक के एटीएम पर जा सकते हैं और अपना पैसा निकाल सकते हैं। एनपीसीआई इन बैंकों के बीच सभी लेनदेन का ख्याल रखता है।

इसी तरह, UPI की मदद से आप एक बैंक खाते से दूसरे बैंक खाते में पैसे भेज सकते हैं।

UPI की सुरवात कब हुई।

16 अप्रैल 2016 को NPCI नै आरबीआई के ध्वारा यूपीआई की सुरवात की। सुरवात मै इसे पायलट प्रोजेक्ट के रूप मै आरबीआई के गवर्नर रघुराम राजन के ध्वारा 9 बंकों के साथ सुरू किया गया। 

आज के टाइम मै यूपीआई को सपोर्ट करने वाले 250 से भी ज्यादा बैंक उपलब्ध है। 

जब 2016 मै नोटबंदी ऊई थी, उसी टाइम हमे यूपीआई की कमी होने की महसूस होने लगी थी, इस वजह से लोग ऑनलाइन पैसे ट्रान्सफर नहीं कर पा रहे थे। 

यूपीआई कैसे काम करता है। (How does UPI works in Hindi)

यूपीआई IMPS यानी इंस्टैंट पेमेंट सर्विस सिस्टम पर आधारित है, जिसका इस्तेमाल हम मोबाइल पर बिना अन्य नेट बैंकिंग का इस्तेमाल किए करते हैं।

इस सेवा का उपयोग हर समय, हर दिन यहां तक ​​कि छुट्टियों पर भी किया जा सकता है। और UPI भी इसी सिस्टम पर काम करता है, लेकिन यहां सवाल उठता है कि अगर UPI और बाकी सभी तरह के नेट बैंकिंग ऐप एक ही सिस्टम पर काम करते हैं, तो उनमें क्या अंतर है?

UPI सभी ऐप्स से अलग है, कैसे? मैं एक उदाहरण देना चाहूँगा.

मान लीजिए कि आपको अपने दोस्त या रिश्तेदार को पैसों की सख्त जरूरत है और आप उन्हें जल्द से जल्द पैसे भेजना चाहते हैं, तो आप जो पहले ऐप्स में करते थे, आपको उन ऐप्स को खोलना होगा और उस व्यक्ति को जोड़ना होगा जिसे आप पैसे भेजना चाहते हैं।

ऐड करते समय बहुत सारी डीटेल्स भरनी होती हैं और इसके लिए आपको सारी बैंकिंग डीटेल्स जाननी होंगी जैसे कि आपको उस व्यक्ति का अकाउंट नंबर, फिर उसका आईएफएससी कोड, ब्रांच का नाम आदि जानना होगा और इन सबको भरने में काफी समय लग जाता है। 

लेकिन यूपीआई में इन सभी चीजों की जरूरत नहीं है, आपको बस उस व्यक्ति की यूपीआई आईडी डालनी होगी जिसके बारे में मैंने आपको ऊपर बताया है और कितना भेजना है यह चुनकर आप आसानी से पैसे भेज सकते हैं।

किसी भी बैंक विवरण को दर्ज करने में ज्यादा परेशानी या समय नहीं लगता है और दूसरे व्यक्ति को यह बताने की जरूरत नहीं होती है कि उसका खाता किस बैंक में है या उसका खाता किस नाम से पंजीकृत है। यह सब जाने बिना भी हम UPI की मदद से जल्दी और सुरक्षित तरीके से पैसे भेज सकते हैं।

UPI में पैसे भेजने की भी एक सीमा है और वह सीमा प्रति लेनदेन 1 लाख रुपये है और प्रेषण शुल्क 50 पैसे प्रति लेनदेन है, जो कि बहुत कम राशि है जिसका अर्थ है कि आपको पैसे भेजने के लिए बहुत अधिक पैसे खर्च नहीं करने होंगे। और आप तुरंत मनी ट्रांसफर का लाभ भी उठा पाएंगे।

यूपीआई आईडी कैसे बनाएं (How to use UPI hindi)

UPI का उपयोग करने के लिए आपको सबसे पहले इसके ऐप्स को अपने एंड्रॉइड फोन पर इंस्टॉल करना होगा। ऐसे कई बैंक एप्लिकेशन उपलब्ध हैं जो यूपीआई का समर्थन करते हैं जैसे एचडीएफसी बैंक, कोटक बैंक, एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक आदि।

आपको अपने फोन पर Google Play Store पर जाना होगा और उस बैंक का UPI ऐप खोजना होगा जहां आपका खाता है। इंस्टालेशन के बाद आपको इसमें साइन इन करना होगा, फिर वहां अपनी बैंक डिटेल्स देकर अपना अकाउंट बनाना होगा।

फिर आपको एक वर्चुअल आईडी मिलेगी, जहां आप अपनी आईडी जनरेट करेंगे, वह आईडी आपका आधार कार्ड नंबर या आपका फोन नंबर हो सकता है या फिर ईमेल आईडी जैसा कोई एड्रेस हो सकता है, इसके बाद आपका काम हो जाएगा।

अपने UPI में अकाउंट बनाने के बाद आप आसानी से पैसे भेज और प्राप्त कर सकते हैं।

UPI की विशेषताएं क्या हैं? (What are the features of UPI hindi)

1. जब आप यूपीआई के माध्यम से भुगतान करते हैं, तो यह आईएमपीएस की मदद से तुरंत आपके खाते में जमा हो जाता है। इसलिए इसमें NEFT भुगतान की तुलना में कम समय लगता है।

2. हम इसे 24 x 7 उपयोग कर सकते हैं।

3. इस मोबाइल नंबर के माध्यम से UPI की मदद से ऑनलाइन और तत्काल बैंक से बैंक भुगतान होता है।

4. आईएफएससी कोड और अकाउंट नंबर का उपयोग करके UPI की मदत से राशि ट्रांसफर की जाती है।

5. ऑनलाइन भुगतान के लिए एम-पिन (मोबाइल पिन) आवश्यक है।

6. बिना इंटरनेट कनेक्शन वाले फोन में *99# डायल करके भी इस सेवा का लाभ उठाया जा सकता है।

7. हर बैंक के पास एक UPI प्लेटफॉर्म होता है, जिसे मोबाइल के ऑपरेटिंग सिस्टम (Android, Windows या Apple) के अनुसार विकसित किया जाता है।

8. यूपीआई के जरिए आपको बिल शेयरिंग की सुविधा भी मिलती है।

9. यूपीआई के जरिए आपको बिजली बिल, पानी बिल, दुकान में खरीदारी आदि की सुविधा मिलती है।

10. हम मोबाइल ऐप के जरिए ही शिकायत कर सकते हैं.

UPI का उपयोग करने के लिए हम किस एप्लिकेशन का उपयोग कर सकते हैं?

आज बाजार में ऐसे कई एप्लिकेशन उपलब्ध हैं जिनकी मदद से आप यूपीआई के जरिए पैसे भेज सकते हैं। जिसमें से:  

  • Gpay
  • PhonePe
  • Paytm
  • Amazonpay
  • BharatPe
  • CRED

और भी एप्लिकेशन है, इसका इस्थमाल करके हम UPI का उपयोग कर सकते है।

यूपीआई पिन क्या होता है।

जब आप सुरवात मै अपना बैंक अकाउंट जोड़ने लगते है, उसी टाइम आपको आपके ATM की डीटेल के साथ UPI पिन को भी सेट करने के लिए कहा जाता है। 

यूपीआई पिन 4 या 6 अंक का रहता है। जब आप किसी को पैसे भेजने लगते है, तो उसी टाइम आपको यूपीआई पिन को डालना पड़ता है।

साथ ही आप पाना बैंक बैलेन्स चेक करने के लिए UPI पिन की जरूरत पड़ती है। ये एक गुप्त पिन रहता है, जोकि किसिकों बताने से आपका नुकसान या बैंक खाता खाली हो सकता है। 

यूपीआई आईडी क्या है।

जब आप अपना बैंक अकाउंट यूपीआई के अंदर जोड़ते है, उसी टाइम आप यूपीआई आईडी भी सेट कर सकते है। ये एक उनिक आईडी होता है, जो अपने ईमेल या मोबाइल नंबर पहले जुड़ा रहता है, और बाद मै बैंक का नाम या @ybl जैसे जुड़ा रहता है। 

यूपीआई आईडी के मदत से आप ऑनलाइन पैसे को भेज सकते है, कही आप IPO मै अप्लाई करते है तो आपको यूपीआई आईडी डालना पड़ता है। 

आप कोई बील का भुगतान करते है, तो आपको यूपीआई आईडी का इस्थमाल करके कर सकते है। 

यूपीआई के नुकसान

हमने इसके पहिले यूपीआई क्या है, और इसके बारे मै हमने डीटेल मै जानकारी ली है, अभी यूपीआई के नुकसान क्या है। इसके बारे मै जान लेते है। 

  • UPI मै आप एक साथ 2000 के ऊपर पैसे को भेज नहीं सकते, कई बैंक से आप ज्यादा पैसे भेज सकते है। 
  • UPI के जरिये फ्रॉड के केसेस बढ़ गए है, जैसे हम डिजिटल करेंसी को ट्रक करते है, वैसे यूपीआई के जरिये फ्रॉड को ट्रक करना मुश्किल है।
  • जब कोई दुकानदार यूपीआई के जरिये पैसे लेता है, तो उसे तुरंत अपने बैंक अकाउंट मै पैसे नहीं आते, बैंक पैसे भेजने के लिए 1 दिन का समय लेता है। 
  • यूपीआई का इस्थमाल करने के लिए इंटरनेट की जरूरत पड़ती है। 

About The Author

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top